Go to ...

टटका खबर

Online Bhojpuri Newspaper

RSS Feed

टटका खबर, बियफे, १८ नवम्बर


शिक्षा से चरित्र खतम होखला से संघ चिन्तित
आरएसएस के सरसंघचालक मोहन भागवत काल्हु गोरखपुर में अपना प्रवास का दौरान एगो प्रभात शाखा पर चहुँपलन आ साधारण स्वंयसेवक का तरह मुख्य शिक्षक के आदेश के पालन कइलन. शाखा में २० मिनट का अपना बौद्धिक में भागवत एह बाति खातिर चिन्ता जतवले कि आजु शिक्षा से चरित्र गायब होखल जात बा. कहलन कि बिना चरित्र के शिक्षा बेमतलब बा. मोहन भागवत इहो कहलें कि शाखा संघ के गतिविधियन के मुख्य आधार ह. कहलें कि एकरा के अउरी प्रभावी बनावे के जरुरत बा. संघ प्रमुख एकादशी व्रतो रहलें से उनुका के छिलल सिंघाड़ा परोसल गइल.

मधुकोड़ा मामिला में ३०० करोड़ के संपत्ति जब्त
झारखंड के मुख्यमंत्री रहे का दौरान कइल घोटाला से करोड़ो के नाजायज संपत्ति बिटोरे वाला मधु कोड़ा आ उनका गिरोह के सदस्यन के तीन सौ करोड़ रुपिया के संपत्ति काल्हु जब्त कर लिहल गइल. अधिकतर संपत्ति विनोद सिन्हा, विकास सिन्हा, आ सुनील सिन्हा के नाम पर बा. जब्त भइल कई गो संपत्ति के बेनामी मानल गइल बा. मधुकोड़ा आ उनकर सहयोगियन के अउरी संपत्ति के पता लगावल जा रहल बा आ पता चलला पर ओकरो के जब्त कर लिहल जाई.

पचत नइखे बिहार के विकास होखत देख के
साठ साल से बेसी का अवधि में चालीस साल ले बिहार के दूहे वाला कांग्रेस आ सतरह साल ले चारा घोटाला खातिर चर्चित लालू प्रसाद के भरोसा बा कि जनता के कुछ याद ना रहे आ ओकरा के आसानी से भरमावल जा सकेला. काल्हु बिहार में चुनाव प्रचार करत सोनिया गाँधी, शीला दीक्षित, लालू प्रसाद, रामविलास पासवान वगैरह सगरी विपक्षी नेता लोग अपना भाषण में बिहार के विकास के दावा झूठ बतावल. लालू कहलें कि अबकी मौका मिले त बिहार के रेल का तरह चमका दीं. चारा घोटाला के अनुभव का आधार पर तब रेल का आरक्षित डिब्बन में साइडो में तीन टियर कर के भेड़ बकरी का तरह आदमी के घुसावल जात रहे. दोसरा तरफ सत्ताधारी गठबन्हन का तरफ से भाषण देबे आइल लालकृष्ण आडवाणी, नीतीश कुमार, सुशील मोदी, शत्रुघ्न सिन्हा वगैरह बिहार के विकास खातिर एक मौका अउरि देबे के निहोरा कइल. आडवाणी अपना भाषण में कहलें कि पहिले का तरह लोकसभा आ विधानसभा के चुनाव एके साथ करावल जाव त बढ़िया रही.

राहुल राज के हत्या के मुकदमा में महाराष्ट्र सरकार के तर्क
महाराष्ट्र सरकार के कहना बा कि राहुल राज के मौत वाली घटना मुंबई में भइल रहे एहसे क्षेत्राधिकार के मामिला बनत बा जवना से पटना हाई कोर्ट एह मामिला में सुनवाई ना कर सके. राहुल के पिता कुन्दन सिंह का तरफ से बहस करत इन्दु शेखर प्रसाद सिन्हा के तर्क रहे कि राहुल के हत्या मुंबई पुलिस कइले रहुवे आ उहे पटना में ले आ के लाश सँउपले रहे. अब लाश चूंकि पटना में बरामद भइल एहसे मामिला पटना उच्च न्यायालय का क्षेत्राधिकार में बा. ऊ गुजरात दंगा के एगो मुकदमा में सुनवाई राज्य के बहरी करावे के सुप्रीम कोर्ट के आदेशो के जिक्र कइले. कहलें कि जब हत्या पुलिसे करे त उहे जाँचो कइसे करी. अह मामिला के सीबीआई से जाँच करावल न्याय संगत होखी. बाद में अदालत कुन्दन सिंह के आपन लिखित शपथनामा दाखिल करे खातिर दू दिन के मोहलत दे दिहलसि.

%d bloggers like this: