अयोध्या के मालिकाना हक का बारे में पिछला ३० सितम्बर के दिहल फैसला पर इलाहाबाद हाई कोर्ट के लखनऊ पीठ १५ फरवरी तक यथास्थिति बनवले राखे के आदेश दिहले बिया. फैसला सुनावे वाला दिन तीन महीना तक के रोक लगावल गइल रहे जवना के बढ़ा दिहल गइल बा. मामिला पर कुछ फरीकन का तरफ से सुप्रीम कोर्ट में याचिका लगावल गइल बा जवना पर फैसला आवे में समय लागे वाला बा. अपना फैसला में लखनऊ पीठ विवादित जमीन के तीन हिस्सा कर के रामलला विराजमान, निर्मोही अखाड़ा, आ मुस्लिम पक्ष के एक एक हिस्सा देबे के बात कहले बा.

By admin

%d bloggers like this: