हिन्दूवादियन पर खुल के हमलावर भइल कांग्रेस

अपना युवराज राहुल गाँधी का बयान पर हो रहल आलोचना के दरकिनार करत कांग्रेस खुल के हिन्दूवादियन पर हमलावर हो गइल. सोनिया गाँधी अपना भाषण से एह हमला के शुरुआत कइली जवना का बाद सगरी कांग्रेसी एह में नून मरीचा मिलावत चल गइलें. अधिवेशन में साफ हो गइल कि कांग्रेस अपना तुष्टिकरण का नीति पर चलत रही. दिग्विजय सिंह सबले बेसी हमला बोललन. कहलन कि संघी आ भाजपाई कहत रहेलें कि मानल जा सकेला कि हर मुसलमान आतंकी ना होला बाकिर हर आतंकी मुसलमाने काहे होला? अब ओह लोग से पूछल जा सकेला कि हर आतंकी हिन्दू ना होला बाकिर हर पकड़ाइल आतंकी संघी काहे होला ? दिग्विजय सिंह कहलें कि भाजपा के संघ से नाता तूड़ लेबे के चाहीं. दिगविजय के दोसर सलाह रहल कि समय आ गइल बा कि राहुल अपना हिसाब से पदाधिकारी चुन के कांग्रेस के आगा ले चलसु. दिग्विजय सिंह के अपना पर भरोसा त बड़लही बा कि उनका जइसन राहुल भक्त के जगहा बरकरारे रही. अधिवेशन में कांग्रेस भ्रष्टाचार का खिलाफ बयानबाजी पर कायम रहल बाकिर साफ कर दिहलसि कि भ्रष्टाचार के जड़ पर प्रहार करे के विपक्षी प्रयास सफल ना होखे दिहल जाई. प्रधानमंत्री कहलन कि अगर जरुरत होखे त पीएसी उनुको के बोला के पूछताछ कर सकेला बाकिर जेपीसी के माँग ना मानल जाई. सोनिया त एह माँग के राजनैतिक ब्लैकमेल के नामो दे दिहली.