बिहार के कृषि स्नातक विद्यार्थियन के दू हजार रुपिया हर महीना के छात्रवृति दिहल जाए आ साल में एक बेर छह हजार रुपिया खेती आ शोध से जुड़ल किताब खरीदे खातिर देबे के सहमति कृषि विभाग विकास आयुक्त के अध्यक्षता वाली समिति के भेजले बावे. ओहिजा से मंजूरी मिलला का बाद एह प्रस्ताव के कैबिनेट में भेजल जाई. उमेद बा कि कैबिनेट के मंजूरी मिल जाई आ तब एकरा के तुरते लागू कर दिहल जाई.

By admin

%d bloggers like this: