आजु से चइत नवरात शूरू हो गइल

आजु बियफे से चइत नवरात के शुरुआत हो गइल बा. नव दिन चले वाला एह व्रत के आखिरी दिने रामनवमी मनावल जाई.