डा॰ विनोद सदस्य बने से इंकार कर दिहले

छपरा के जयप्रकाश विश्वविद्यालय के कुलपति अपना मनमर्जी से बिना सिंडिकेट के बईठक बोलवले समितियन के सदस्य मनोनीत कर दिहले बाड़े. कुलपति के एह अलोकतांत्रिक तरीका के विरोध करत अंगरेजी विभागाध्यक्ष डा॰ विनोद अनुशासन आ प्रेस कमिटि के सदस्य बने से इंकार कर दिहले बाड़े. कुलपति के ऊ एह बाबत चिट्ठियो लिखले बाड़न.