मुजफ्फरनगर दंगा के भेट चढ गइल विधानमंडल के पहिला दिन


उत्तर प्रदेश विधानमंडल के मानसून सत्र के पहिला दिन के कार्यवाही मुजफ्फरनगर दंगा के भेट चढ गइल. दुनु सदन में विपक्षी सदस्य जमके हंगामा कइलें. एही हो हल्ला का बीच सरकार विधानसभा मे त कुछ काम निपटा लिहलसि बाकिर परिषद मे कवनो काम ना हो सकल.

संसदीय कार्यमंत्री मोहम्मद आजम खां दंगा खातिर विपक्षे के जिम्मेदार बता दिहलन.

शुरु में त पूरा विपक्ष एकमत लउकल बाकिर प्रश्न काल का बाद ओहमें बिखराव नजर आवे लागल. काहे कि तब ले कांग्रेस आ बसपा सदस्य भाजपे के कठघरा मे खडा कइल शुरु कर दिहलें.

कांग्रेस के प्रमोद तिवारी कहलन कि कांग्रेस चाहत बिया कि सदन चले आ दंगा आरोपियन के चेहरा सामने आवे. भाजपा सदस्यन का ओर इशारा करत कहलन कि दंगा इहे लोग करावल, ई लोग दंगाई ह आ उत्तर प्रदेश के गुजरात बनावे वालन के सदन से बाहर निकाल देबे के चाहीं.

प्रमोद तिवारी के हँ में हँ मिलावत संसदीय कार्यमंत्री मोहम्मद आजम खां कहलन कि भाजपा आ कुछ फासिस्ट ताकत उत्तर प्रदेश के गुजरात बनावल चाहत बाड़े, सरकार एह लोगन से कड़ाई से निपटी.

नेता विपक्ष स्वामी प्रसाद मौर्य कहलन कि पूरा प्रदेश मे दंगा का जरिए हिन्दू मुस्लिम एकता तार तार कइल जा रहल बा.

हल्ला गुल्ला का बीचे में सरकार निमेष आयोग के रिपोर्ट आ छह गो विधेयक सदन के पटल पर रखलस. बाद में सदन स्थगित कर दिहल गइल.

सदन के बइठक शुरू होखे का बेरा भाजपा सदस्य भारत माता के जय बोलत वेल में आ गइले आ जबरदस्त नारेबाजी कइले. एह लोग के कहना रहे कि हिन्दुअन पर अत्याचार बन्द होखे, एकतरफा कार्रवाई ना चली ना चली, झूठ एफआईआर वापस ल, हिन्दुअन के उत्पीडन बन्द करऽ वगैरह,

कांग्रेसी सदस्यन के नारा रहे कि बन्द करऽ खेल. सरकार हो गइल फेल, मुख्यमंत्री इस्तीफा दऽ, सपा भाजपा भाई भाई, बन्द करऽ लाशन के खेल वगैरह.
(वार्ता)

%d bloggers like this: