Go to ...
RSS Feed

दर दर भटके ला मजबूर बाड़न पद्मश्री सीताराम


गाजीपुर 10 नवम्बर (वार्ता) गाजीपुर जिला मे साल 1981 मे कुटीर उद्योग खातिर पद्मश्री से सम्मानित शेरपुर गांव के सीताराम पाल के परिवार के हाल देख लोग के रोआई आवत बा.

सीताराम पाल आ उनकर बेटा सरकार से कवनो सहायता ना मिलला का बाद अपना के सम्मान का साथे चिता पर जरावे के अनुमति प्रधानमंत्री आ राष्ट्रपति से मँगले बाड़े. सीताराम पाल के आँख के रोशनी खतम हो गइल बा.

एक समय सीताराम पाल जिला के बेरोजगारन के कुटीर उद्योग का जरिए रोजगार दिहला का साथही देश के विकास मे नवहियन के जोड़े के काम करत रहले. लगभग 500 नवहियन के कंबल बुनल सिखा के ओह लोग के अपना भरोसे जिए के सिखवले. एही काम के देख तब जे राष्ट्रपति नीलम संजीव रेड्डी उनका के 28 मार्च 1981 का दिने पद्मश्री से सम्मानित कइले.

साल 1986 मे आँख खराब हो गइला का बाद घर के रहल सहल पूंजीओ खतम हो गइल आ अब उ मुफलिसी मे जीयत बाड़न.

Tags: ,

More Stories From उत्तर प्रदेश

%d bloggers like this: