राखी एक बजे दुपहर का बादे बान्हे के कहतारें पंडितजी लोग

सावन पूरनमासी का दिने राखी के पर्व मनावल जाला. आजु अतवार का दिने राखी के पर्व पड़ल बा. बाकिर ज्योतिष के जानकार पंडितजी लोगन के कहना बा कि अतवार का भोर में भद्रा के दोष का चलते दिन के डेढ. बजे का बादे राखी बान्हल शुभ होखी.