रेल आरक्षण : मिले मियाँ के माँड़ ना, बिरयानी के फरमाइश


रेलवे आरक्षण लिहल भा मिलल एगो बड़हन कसरत होला आ अगर अचके में जरूरत पड़ जाव त लाटरी के टिकट जीतला जइसन हालात बन जाला. बाकिर एकरा बावजूद रेलवे के कहना बा कि अब से ट्रेन खुलला के आधा घंटा पहिले ले इंटरनेट आ काउन्टर से आरक्षण करावल जा सकेला. एह खातिर अब आरक्षण चार्ट दू बेर बनावल जाई. एक बेर चार घंटा पहिले आ दुसरका बेर आधा घंटा पहिले. पहिलका चार्ट बन गइला का बादो आरक्षण करावल जा सकी बशर्ते सीट बाँचल होखो.

%d bloggers like this: