Go to ...
RSS Feed

भोजपुरी के पुरनका लिपि कैथी के संजोए के काम


नालंदा खुला विश्वविद्यालय में बिहार के सात सौ साल पुरान कैथी लिपि के संजोए के काम शुरू भइल बा. भोजपुरी पहिले एही लिपि में लिखात रहुवे बाकिर बाद में एह लिपि के जानकार कम होखत गइलें आ बहुते कमे लोग एकर जानकार बाँचल बा. गुजराती लिपि आ कैथी में बहुते समानता देखे के मिलेला. एह लिपि के नाम कायस्थ जाति का नाम पर बा काहे कि लिखे पढ़े के काम एक जमाना में एही लोग का लगे रहत रहुवे.

विश्वविद्यालय के कुलपति प्रोफेसर रास बिहारी सिंह बतवले कि कैथी लिपि में लिखाइल शिलालेखन, दस्तावेजन अउर पाण्डुलिपियन के संजोवल जाई.

Tags: , ,

More Stories From भोजपुरी पट्टी

%d bloggers like this: