web analytics

यूपी सरकार के फिरकापरस्ती के आरोप में घेरइला का बाद सुधार के कोशिश

मथुरा के जवाहरबाग में भईल बवाल में मारल गइल दू गो पुलिस अधिकारियन ला महज 20 लाख के मुआवजा का एलान का बाद यूपी के सपा सरकार पर चारो तरफ से एगो खास फिरका से प्रेम के आलोचना होखे लागल. खास क के सोशल मीडिया अखिलेश सरकार के अपना निशाना पर ले लिहलसि. प्रतापपुर के बवाल में लराइल मुसलमान अधिकारी के परिवार के 50 लाख रुपिया के मुआलजा आ परिवार के कई आदमी के सरकारी नौकरी दिहले रहलन अखिलेश यादव. इहां ले कि घर में गोहत्या क के गोमांस खाए आ राखे वाला अखलाको को परिवार के 45 लाख रुपिया आ चार गो फ्लैट दिहले रहुवे सपा सरकार. बाकिर जवाहर बाग में मारल गइल दू गो पुलिस अधिकारियन ला महज बीस बीस लाख के मुआवजा के एलान भइल रहे.

अब चउतरफा फजीहत से घेराइल सरकार एहु लोग ला पचास पचास लाख रुपिया मुआवजा के एलान करे ला मजबूर हो गइल. बाकिर घर वालन के नौकरी देबे का मामला में फिरकावाराना फरक बनले रहि गइल बा.

ओेने पुलिस प्रशासन के दावा आइल बा कि एह बवाल के सरगना रामवृक्ष यादव मौके पर मरा गइल रहे. हालांकि घर वाले जब लाश सकार लीहें तबे एकर पुष्टि हो पाई. रामवृक्ष यादव के राजनीतिक रसूख देखत एहु में कवनो खेल कइल जात होखे त अचरज ना होखे के चाहीं.

मामिला दबावे का कोशिश में काल्हु मथुरा के सांसद हेमामालिनी के जवाहरबाग ना जाए दीहल गइल.

 74 total views,  5 views today

%d bloggers like this: