Go to ...

टटका खबर

Online Bhojpuri Newspaper

RSS Feed

सिनेमा के रतौंधी एगो अउर बलि लिहलसि



कच्चे धागे, दम होई जेकरा में ऊहे गाड़ी खूंटा, लहू के दो रंग, दिवानगी हद से, केहू त दिल में बा, हमरा दारू ना मेहरारू चाही वगैरह अनेके भोजपुरी फिलिमन में काम कर चुकल चंचल चितवन, खनकत हँसी आ मोहक अदा से मोहित कर लेबे वाली अभिनेत्री अंजली श्रीवास्तव मुंबई के अपना डेरा मे फाँसी लगा के जान दे दिहली.

यूपी के इलाहाबाद जिला के मीरापुर (शास्त्री नगर) के रहे वाली अंजली श्रीवास्तव के घर में लोग प्यार से लवी कहि के बोलावत रहुवे. उनुकर प्रेम प्रकाश श्रीवास्तव इलाहाबाद में कुछ रोजगार करेलन आ महतारी अध्यात्मिक स्वभाव के गृहिणी हई. परिवार उनुका फिल्मी कैरियर से बहुत खुश ना रहल बाकि महतारी बेटी का साथही मुंबई वाला डेरा पर रहत रही. कुछ दिन पहिले महतारी इलाहाबाद आइल रहली आ मुंबई में अंजली अपना डेरा मे अकेला रहली. पिछला कुछ समय से अंजली के कवनो नया फिलिम के आफर ना मिलल रहे जवना से ऊ अवसाद में आ गइल रही. एही बीच घर परिवार उनुकर बिआह तय क दिहलसि जवना से ऊ अउर तनाव में आ गइल रहुवी.

इलाहाबाद से आवत फोन जब ऊ ना उठवली त मकान मालिक के फोन कइल लोग. जब उनुको कवनो जवाब ना मिलल त पुलिस के बोलवा के डेरा के दरवाजा डुप्लीकेट चाभी से खोल के पुलिस भीतर घुसल त अंजली के लाश पंखा से लटकल मिलल. कमरा में कवनो सुसाइड नोट नइखे मिलल बाकिर पुलिस के लागत बा कि ई खुदकुशी के केस ह काहे कि कमरा में अइसन कुछ नइखे मिलल जवना से दोसर अनेसा कइल जा सके.

अंजली श्रीवास्तव कह दिहली कि “अब होई बगावत”

Tags: ,

%d bloggers like this: