Go to ...
RSS Feed

उगिलत आन्हर घोंटत कोढ़ी


कानपुर में आठ गो पुलिसवालन के खून करे वाला अपराधी विकास दूबे के आजु भोरे मध्यप्रदेश के उज्जैन में महाकाल मंदिर से गिरफ्तार कर लीहल गइल. बतावल जात बा कि विकास अपनहीं चिल्ला चिल्ला के आपन परिचय बतवलसि कि ऊ कानपुर वाला विकास दूबे ह. इहो कहल जात बा कि महाकाल मन्दिर में ओकर गिरफ्तारी एगो सोचल बूझल चाल हो सकेला. काहे कि पुलिस जब ओकरा के गिरफ्तार करे चहुँपल त साथही मीडिया वाले मय कैमरो रहलें. ओकरा बाद करीब करीब हर टीवी चैनल इहे दावा करत लउकल कि विकास दूबे के गिरफ्तारी के खबर सबले पहिले ओही चैनल पर दीहल गइल. जहाँ के मीडिया एह तरह के झूठ सरेआम बोलत होखे ओकरा पर कतना भरोसा कइल जा सकेला !
मीडिया य मीडिया राजनीतिक गिरोहनो का तरफ से एह गिरफ्तारी पर तरह तरह के सवाल उठावल जा रहल बा आ आपन भरोसा मेटा चुकल लुटियन मीडिया एह बयानबाजी के उछालहूं में कवनो उरेज नइखे करत. मामिला चुंकि भाजपा शासित राज्यन के ह देश के विरोधी गोलन के कहना बा कि विकास दूबे के गिरफ्तार नइखे कइल गइल, ओकरा के बचावे खातिर एगो जाल बुनाइल बा आ विकास दूबे के गिरफ्तारी देखावल जात बा. अगर ओकरा भाजपा के संरक्षण ना रहीत त ओकर इनकाउन्टर हो गइल रहीत
मगर इहो तय बा कि अगर खुदा न खास्ता ओकर इनकाउन्टर हो गइल रहीत त इहे गोल तब हल्ला करीतन कि विकास के एह ले मार दीहल गइल कि ऊ ओह लोग के राज मत खोल देव जे ओकरा के बचावत रहुवे.
एह पर उहे कहावत सही बइठत बा कि भई गति साँप छुछुन्दर के री, उगिलत आन्हर घोंटत कोढ़ी.
हालांकि महाकाल मन्दिर पर तैनात सुरक्षा कर्मियन के कहना बा कि विकास सरेन्डर के इरादा से ना आइल रहुवे बाकिर पकड़ा गइला का बाद ऊ आपन डान बचावे खातिर हल्ला कर के आपन नाम बतावे लागल कि कहीं ओकरा के केहू गोली मत मार देव. मन्दिर में आइल विकास फराजी पहचान पत्र जमा कइले रहुवे आ पुलिस के सन्देह भइल त खुलासा भइल कि ई अपराधी विकास दूबे हवे.
ओने मारल गइल पुलिस अधिकारियन आ सिपाहियन के हित नात के कहना बा कि विकास के बचावे ला ओकरा के गिरफ्तार करे के नौटंकी कइल गइल बा.
बाकिर हमरा पूरा भरोसा बा कि यूपी पुलिस एह मामिला में बढ़िया से पूछताछ करी आ असल बात के खुलासा देश का सोझा राखी.

Tags: , , , ,

More Stories From अपराध

%d bloggers like this: