Go to ...
RSS Feed

ट्वीटर के परीक्षण सफल रहल


इयाद बा, कइसे कई बरीस पहिले एक दिन पूरा देश में गणेश जी के मूर्ति दूध पिये लागल रहली सँ ? उहो एगो परीक्षण रहुवे. कबो एह बाति के पक्का प्रमाण त सामने ना आइल बाकिर कहे वाला आजुओ कहेलें, मानेलें कि ऊ एगो सफल परीक्षण रहुवे. ओहमें परीक्षण करे वाला गोल ई देखल चहले रहुवे कि अगर पूरा देश के संचार व्यवस्था ठप पड़ जाव त का ओहू हालात में अपना विचारधारा का हिसाब से कवनो खबर पूरा देश में पसारल जा सकेला. अगर हमार मानीं त ऊ एगो सफल परीक्षण रहुवे. आ हम त ओह र्यूमर स्प्रेडिंग सोसाइटी के सदस्यों हईँ,

आजु ओही तरह के एगो परीक्षण दुनिया के चुनिन्दा सोशल साइ़टन में शामिल ट्वीटर पर कइल गइल. आ हमरा हिसाब से इहो परीक्षण सफल का श्रेणी में राखल जा सकेला. वइसे असल निष्कर्ष त ओकर टेक्निकल टीम निकाली बाकिर एटम बम एके परीक्षण में ना बन जाव. कई बेर परीक्षण करे के पड़ेला. कुछ ऊँच-नीच करे के जरुरत लउके त उहो कइल जाला.

आजु शनीचर का फजीरहीं से कुछ ना, कुछ हजार लोग के ट्वीटर ना खुल पावल. अइसन ना कि ट्वीटर के सर्वर एकदमें डाउन हो गइल रहुवन सँ. साइय बाकायदा खुलल रहे बस प्रभावित ट्विटरिहा के टाइम लाइन ना लउकत रहुवे. ऊ कोशिश कर के ई त देख पावत रहुवे कि का ट्रेंड करत बा आ ओह ट्रेंड के देखिओ सकत रहुवे. बाकिर ओकर जवाब टिवीट हो गइला का बादो ना लउकल रहे. वइसे जब टाइमलाइन ना उजागर होखत होखो त बहुते कम लोग अइसन होखी जे कुछ ट्वीट करे के जहमत उठाई. बाकिर हम उठवनी आ देखनी कि हमार ट्वीट उजागर त भइल, बाकिर हमरा ला ना, उनुका ला जिलकर ट्वीटर निर्बाध चलत रहुवे.

ई महज एगो अनुमान बा बाकिर हम कह सकीलें कि एह परीक्षण में ट्वीटर के टीम ई देखल चहलसि कि अगर ऊ चाहे त का एगो खास समय ला, खास इलाका के खास खास लोगन के ट्वीटर टाइम लाइन से बहरा राखि सकेला का ? जइसे कि आजु पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव के पाँचवा डेग का दिने भारत के करीब चालीस हजार ट्विटरहियन के ट्विटर से बाहर राखे में पूरा सफल रहल ई तकनीकि. ट्वीटर का सफाई देत बा, का दी, का दीहल चाही ओकरा जाल में मत अझूराईं. सोच लीं कि ट्वीटर जब चाहे तह रउरा के बिना ससपेंड कइले, बिना कवनो कार्रवाई कइले, ट्वीटर का बहरा फेंक सकेला. एह परीक्षण के सामरिक महत्व अगिला लोकसभा चुनाव का बेरा लउकी जब सोशल मीडिया के बादशाह नरेन्द्रो मोदी के उहे हाल करल चाहीं जइसन हाल ही में करावल गइल अमेरिकी राष्ट्रपति चुनाव में कइल गइल. आ अभिव्यक्ति के आजादी के ई सिपाहसालार ट्रंप से आपन बाति कहे के आजादी छीन लिहलें. आ एह काम में टवीटर, गूगल, फेसबुक सभ शामिल रहलें.

@narendramodi @AmitShah समय अधिका नइखे बाचल, समय रहते सम्हरे के कोशिश करीं आ एह वार के काट निकाल लीं. जानत बानीं कि रउरा लगे एक से बढ़ के एक सलाहकार बाड़ें बाकिर रामसेतु बनावें एगो रुखी (गिलहरी) के कोशिश का तरह हमरो ई एगो कोशिश बा.

Tags:

More Stories From चुनाव

%d bloggers like this: