web analytics

आई आम भा जाई लबेदा

बियफे 8 सितम्बर 2022 का दिने शेयर बाजार कइसन रही

एक बैर के बाति ह जब बस स्टैण्ड पर हम अपना बस के इंतजार करत रहीं. देखनी कि एगो गाहक ढाबा का दोसरा कोना से एगो गाहक काउन्टर को सोझा चहुपले रहल तब ले पीछे से आबाज आइल – खाया पिया कुछ नहीं, गिलास फोड़ा बारह आने. बेचारा से गिलास गिर के टूट गइल रहुवे आ कुछ खइले-पियले ना रहुवे. से गिलास के दाम बारह आने चुकावे के पड़ल. आना अधेला के जमाना त कहिए चलि गइल अब त बस रुपया आ पइसा रहि गइल बा. पइसा कहे सुने भर ला. काहे कि पचास पइसा से कम के सिक्का सरकारे बन्द कर दिहलसि आ बाकी काम दुकानदार क दिहलें जे सिक्का लेबे ना करसु. एक रुपिया से कम के सिक्का त एह घरी भिखारिओ मुँह पर फेंक दी. खैर. ई सभ सुनवला के उद्देश्य बस इहे बतावे के रहुवे कि कई बार आदमी कुछ खरीद-बेसह ना पावे बाकिर सौदा करे आ रद्द करे का बीच ओकर कुछ नुकसान जरुरे हो जाला अगर दाम में खास बदलाव ना भइल त.

एने तीन दिन से बाजार एगो सकेता में – range bound – नाच रहल बा. आजु के सकेता अउरी सँसराह रहुवे. बाजार आजु gap down खुललआ पहिलके पाँच मिनट का भीतर 17490 ले चलि गइल. ओकरा बाद करीब पौने बारह बजे (11:45)ले एगो सँकरा दायरा – narrow range में 17530 से 17590 का बीचे उपर नीचे होत रहि गइल. उपरि बेरा एह दायरा से उपर निकल के फेरु 17590 से 17650 का बीचे घूमत रहि गइल. एह तरह के बाजार में कवनो सौदा कइल घाटा दे के जाई. हम रिटेल ट्रेडरन के बाति करत बानी. लाख करोड़ के सौदा करे वालन के ना. ओह लोग के त महज पाँच दस रुपिया के घट-बढ़ से काम बन जाला. एक भा दू लॉट (निफ्टी-50) के एक लॉट में 50 ईकाई रहेला. त पचास भा सौ के खरीद बेच में पाँच-दस रुपिया के से अढाई सौ से पाँच सौ के नफा-नुकसान हो पाई. दोसरे पूंजी कम रहला का चलते डेराइलो अधिका रहेला आदमी.

आजु का बाजार का बारे में काल्हु लिखले रहीं –

काल्हु बाजार अगर 17720 का उपर गइल आ कुछ देर ले उपरे रहल तब कॉल ऑप्शन खरीदे के मौका देखब हम. आ अगर 17580 का नीचे गिरल त पुट ऑप्शन खरीदे के. दोसरे 17600 का नियरा कॉल ऑप्शन लेबे के विचारब. मौका ठीकठाक लउकी तब. आ 17800 का उपर गइला का बाद मौका लागी त पुट ऑप्शन खरीदे के सोचब हम.

बाजार ना त 17700 का उपर गइल ना 17600 का नीचे गइल. एह तरह के बाजार में तमाशा देखीं बाकिर मूड़ी घुसावे के कोशिश कबो मत करब. अब काल्हु बियफे का दिने साप्ताहिक निपटान (weekly settlement) के दिन हवे आ ओह दिन ऑप्शन के दाम तेजी से गिरेला. जइसे कि दस बजे भौर में जवन कॉल भा पु़ट सौ रुपिया पर मिली अगर निफ्टी-50 का दाम में ओकरा बाद कवनो फेर बदल ना होखे, भा ओहि दाम पर उपरी बेरा ओही कॉल भा पु़ट के दाम सत्तर रुपिया रहि जाई. एहसे बियफे का दिने अउरी सम्हर के सौदा कइल जाला. दू बजे का बाद आम तौर पर एक तरफा तेजी भा मन्दी देखे के मिलेला. बहुत लोग एही तेजी आ मन्दी में जीरो भा हीरो वाला खेल में हाथ अजमावेला. जीरो भा हीरो के मतलब भइल कि आई आम भा जाई लबेदा. या त बड़हन मुनाफा होखी आ ना त सगरी स्वाहा.

हमरा जइसन लागत बा कि काल्हु 17700 का उपर आ 17600 का नीचे बन्दी होखे के उमेद ना के बरोबर बा. एहसे काल्हु हमहूं एह खेल में एक दाँ खेलब. बाजार खुलते 17700 के पुट ऑप्शन 50 का नीचे लगा देब. अगर उपर जाई त पुट के दाम गिरेला आ हो सकेला कि एह दाम पर भेंटाइओ जाई. आ ठीक ओहि बेरा 17600 के कॉल ऑप्शन खरीदे खातिर 50 के दाम लगा देब. अगर बाजार कहीं नीचे गिरल त भेंटाइओ सकेला. एकरा बाद हम बइठ के तमाशा देखब. काहे कि हर हाल में हमरा 100 रुपिया प्रति ईकाई (17700-17600=100) मिलहीं के बा.

अब दू तीन तरह के संभावना बन सकेला –
कॉल आ पुट दुनु खरीदा गइल तब त पौ बारह.
बाकिर एगो मिलल आ दुसरका ना मिलल त खेल बहुते खतर नाक हो जाई. एह से स्टॉप लॉस के सहारा लेबहीं के पड़ी.
तिसरका संभावना बन सकेला कि बाजार 17700 का उपर भा 17600 का नीचे बन्द भइल त पूंजी लवटला के गारंटी बा.
इहो हो सकेला कि बीचही में एगो के दाम 100 का उपर चल जाव. ओह हालत में हम दुनु सौदा एके साछ निपटा देब. एगो से पूरा दाम वापस आ दोसरका खालिस मुनाफा के रही.
आ एह सब में आई आम भा जाई लबेदा के मंत्र भुलाए के नइखे.

 478 total views,  7 views today

%d bloggers like this: