Go to ...

टटका खबर

Online Bhojpuri Newspaper

RSS Feed

राष्ट्रपति

रामनाथ कोविन्द देश के 14वाँ राष्ट्रपति

20 जुलाई 2017 का दिने संघ के प्रचारक स्वंयसेवक, भाजपा के नेता, आ हाल फिलहाल में बिहार के राज्यपाल रहल रामनाथ कोविन्द जी के देश के 14वाँ राष्ट्रपति का रुप में चुनइला के आधिकारिक एलान हो गइल. सोनिया गाँधी के अगुअई में बहुते विराधी गोल मिल के बाबू जगजीवन राम के बेटी आ लोकसभा स्पीकर

राष्ट्रपति से भेंट कइलन सरसंघचालक मोहन जी भागवत

संघ के सरसंघचालक मोहन जी भागवत सोमार का दिने राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी से मुलाकात कइलन. राष्ट्रपति भवन आ संघ दुनू का तरफ से एकरा के शिष्टाचार भेंट बतावल गइल बा बाकिर पहिला बेर कवनो सरसंघचालक आ राष्ट्रपति के एह तरह के मुलाकात भइल बा. वइसे एकरा पहिले नीलम संजीव रेड्डी संघ के कार्यक्रम में शामिल

राष्ट्रपति आईआईटी पटना के दीक्षांत समारोह मे भाग लेबे आवत बाड़े

पटना 25 अक्टूबर (वार्ता) राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी भारतीय प्रौद्योगिकी संस्थान पटना आईआईटी के दुसरका दीक्षांत समारोह मे शामिल होखे आवत बाड़े. आधिकारिक सूत्र बतवले कि राष्ट्रपति आईआईटी के दूसरका दीक्षांत समारोह मे साल 2009 से.13 बैच के दू गो छात्रन के स्वर्ण पदक दीहें आ तीन गो के रजत पदक. दीक्षांत समारोह राजधानी के रविन्द्र

राष्ट्रपति के पटना कार्यक्रम में बदलाव के भाजपा स्वागत कइलसि

भाजपा राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के पटना कार्यक्रम मे फेरबदल करे आ 27 अक्टूबर के पटना में होखे वाला नरेन्द्र मोदी के रैली से एकदिन पहिलहीं दिल्ली लवटि जाए के फैसला पर उनका प्रति आभार जतावत राष्ट्रपति के यात्रा के स्वागत कइले बिया. पहिले बतावल गइल रहे कि राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी 26 अक्टूबर के पटना अइहें

राष्ट्रपति के पटना कार्यक्रम में बदलाव के भाजपा स्वागत कइलसि

भाजपा राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी के पटना कार्यक्रम मे फेरबदल करे आ 27 अक्टूबर के पटना में होखे वाला नरेन्द्र मोदी के रैली से एकदिन पहिलहीं दिल्ली लवटि जाए के फैसला पर उनका प्रति आभार जतावत राष्त्रपति के यात्रा के स्वागत कइले बिया. पहिले बतावल गइल रहे कि राष्ट्रपति प्रणव मुखर्जी 26 अक्टूबर के पटना अइहें

बजट सत्र में राष्ट्रपति के अभिभाषण

आजु बियफे का दिने अभिभाषण पढ़त संसद के संयुक्त सत्र के उद्घाटन कइलें राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी. कहलन कि नकद सब्सिडी से करोड़ों लोग के फायदा होखी. बतवलन कि पिछला साल मुश्किल भरल रहल आ देश क सोझा मंदी आ बेरोजगारी बड़हन समस्या बाड़ी सं. महँगाई अबहियों चिन्ता के कारण बनल बा. बाकिर सरकार एह दिसाईं